योजनाएं

स्वच्छ भारत अभियान

स्वच्छ भारत अभियान (एसबीए) (या स्वच्छ भारत मिशन (एसबीएम) भारत में एक अभियान है जिसका लक्ष्य है कि भारत के शहरों, छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों की सड़कों, और बुनियादी ढांचे को साफ करना है। स्वच्छ भारत के उद्देश्यों में घरेलू स्वामित्व और सामुदायिक स्वामित्व वाली शौचालयों के निर्माण के माध्यम से खुली शौच को खत्म करना और शौचालय के उपयोग की निगरानी के लिए जवाबदेही तंत्र स्थापित करना शामिल…

प्रकाशित तिथि: 06/04/2018
विवरण देखें

पीएमए-जी

ग्रामीण आवास कार्यक्रम  इंदिरा आवास योजना में कमियों  को दूर करने के लिए और योजना 2022 द्वारा “सभी के लिए आवास” प्रदान करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को देखते हुए IAY को प्रधान मंत्री आवास योजना-ग्रामिन (पीएमए-जी). 1 अप्रैल 2016 में पुन: संरचित किया गया है।  पीएमए-जी का उद्देश्य 2022 तक सभी घरेलू गृहस्थ और कच्चे और जीर्ण घरों में रहने वाले को  बुनियादी सुविधाओं के साथ एक पक्के…

प्रकाशित तिथि: 06/04/2018
विवरण देखें

मनरेगा

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम 2005 (या फिर एनआरईजीए को बाद में “महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम”, मनरेगा नाम दिया गया), एक भारतीय श्रम कानून और सामाजिक सुरक्षा उपाय है जिसका उद्देश्य ‘कार्य करने का अधिकार’ है। इसका लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 100 दिनों की रोज़गार हर परिवार प्रदान करके के लिए है, जिनके वयस्क…

प्रकाशित तिथि: 06/04/2018
विवरण देखें

ई-जिला

ई-जिला राष्ट्रीय ई-शासन योजना के तहत एक राज्य मिशन मोड परियोजना है। परियोजना का उद्देश्य वर्तमान में एनजीपी के तहत किसी भी एमएमपी के तहत शामिल नहीं होने वाली कुछ उच्च मात्रा वाली सेवाओं को लक्षित करना और नागरिक सुविधा केंद्रों के माध्यम से नागरिक केंद्रित सेवाएं प्रदान करने के लिए बैकेंड कम्प्यूटरीकरण का काम करना है। जिला, तहसील, उपखंड और ब्लॉक. ग्राम स्तर पर  बने नागरिक सुविधा केंद्रों (सीएस.सी.)…

प्रकाशित तिथि: 06/04/2018
विवरण देखें

प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना

भारत में 24 करोड़ से अधिक परिवारों के घरो में  से 10 करोड़ घरों में अभी भी खाना पकाने के इंधन के रूप में एलपीजी से वंचित है और उन्हें खाना पकाने के लिए प्राथमिक स्रोत के रूप में लकड़ी, कोयले, गोबर-केक आदि पर भरोसा करना पड़ता है। ऐसे ईंधन को जलाने से धुएं का कारण खतरनाक प्रदूषण महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है जिससे कई…

प्रकाशित तिथि: 06/04/2018
विवरण देखें